October 21, 2021



Top 5 Independence Day Speech in Hindi 2021

independence day speech in hindi
independence day speech in hindi 2021
Top 5 Independence Day Speech in Hindi 2021 1

आइए आज आपको बताते हैं 15 अगस्त के बारे में Independence Day यानी कि स्वतंत्रता दिवस के बारे में साथ ही आपको बताते हैं कि 2021 का स्वतंत्रता दिवस किन मायनों में इसके पूर्व के स्वतंत्रता दिवस से अलग है साथ ही हम आपको बताएंगे स्पीच यानी की भाषण के बारे में जो आप अपने विद्यालयों अथवा किसी अन्य स्थान पर 15 अगस्त यानी कि स्वतंत्रता दिवस के उपलक्ष में बोल सकते हैं ।

दोस्तों हमारे देश भारत वर्ष में प्रत्येक 15 अगस्त को स्वतंत्रता दिवस के रूप में मनाया जाता है यह एक राष्ट्रीय त्योहार के रूप में मनाया जाता है क्योंकि इस दिन हमारे भारतवर्ष को ब्रिटिश शासन से आजादी मिली थी ।

15 अगस्त 1947 को सुबह 11:00 बजे संगठक सभा ने भारत की स्वतंत्रता का समारोह आरंभ किया था जिसमें संपूर्ण अधिकारों का हस्तांतरण किया गया जैसे ही मध्यरात्रि की घड़ी आई हमारे भारतवर्ष ने अपनी स्वतंत्रता हासिल करें और एक स्वतंत्र और सशक्त राष्ट्र बन गया।

तब से लेकर के आज तक हम 15 अगस्त को स्वतंत्रता दिवस के रूप में मनाते हैं और 15 अगस्त को राष्ट्रीय त्योहार का दर्जा दिया गया है इस दिन विद्यालयों में एवं पूरे देश में हर एवं उत्साह का माहौल बना रहता है साथ ही हम 15 अगस्त के मौके पर गीत संगीत भाषण रैलियां इत्यादि का प्रोग्राम करते हैं और अपने वीरगति को प्राप्त वीर और वीरांगनाओं को याद करते हैं जो हमे स्वतंत्रता दिलाने के लिए खुद के प्राणों की बलि दे दिए ।

आइए अब आपको बताते हैं कुछ स्पीच यानी कि भाषण के बारे में जो आप स्वतंत्रता दिवस के अवसर पर अपने विद्यालय अथवा अन्य स्थानों पर बोल सकते हैं चाहे आप एक स्टूडेंट हैं अध्यापक हैं अथवा कोई और नागरिक हैं या फिर नेता विधायक आप इन भाषण को बोल सकते हैं तो चलिए शुरू करते हैं ।

आपके लिए खाश
>हिन्दी दिवस पर कविता – 2021 (students और teachers के लिए)
>सभी के लिए बहुत ही मार्मिक हृदय को स्पर्श करने वाली हिन्दी दिवस पोयम

Independence Day Short Speech #1

स्टेज पर पहुंचते ही कहें… माननीय मुख्य अतिथि, शिक्षक, माता-पिता और मेरे सभी प्रिय मित्र आप सबको मेरा नमस्कार… मैं ….नाम…. कक्षा ….. का छात्र हूं। मुझे यह बताते हुए बहुत खुशी हो रही है कि इस बार भारत अपना 71 वां स्वतन्त्रता दिवस मना रहा है। भारतीय नागरिकों के लिए बहुत ही खास दिन है और आप सभी को स्वतन्त्रता दिवस की हार्दिक शुभकामनाएं।

“आज स्वतंत्रता दिवस के शुभ अवसर पर मुझे स्वतंत्रता दिवस पर कुछ पंक्तियां कहने का बड़ा ही भाग्यशाली अवसर मिला आप सभी का संपूर्ण दिल से धन्यवाद जैसा कि हम सभी को मालूम है कि आज भारत का स्वतंत्रता दिवस है ।”

“आज भारत ब्रिटिश शासन के चंगुल से पूर्ण रूप से आजाद हुआ था आज ही के दिन भारतवर्ष में अपना स्वयं का अधिकार वापस प्राप्त किया था 15 अगस्त 2021 में भारत अपनी आजादी का 75 वा साल मनाने जा रहा है आज भारत को आजाद हुए 75 साल हो गए हैं भारत को आजाद होने में काफी समय लगा लेकिन आजादी हासिल कर ली गई ।”

“जैसा की आप सभी को ज्ञात ही है कि भारत प्राचीन काल से ही सोने की चिड़िया कहा जाता है और आपको बता दूं कि भारत भी आप शक्तिशाली देशों में से एक माना जाता है भारत में हर वर्ष बदलाव लाए जा रहे हैं भारत की तीनों सेनाओं को संपूर्ण विश्व में बहुत ही शक्तिशाली माना जाता है आज के दिन हम सभी को अपने पूर्वजों द्वारा किए गए संघर्ष और मित्रों के साथ दिए गए बलिदान की याद आ जाती है आज उन्हीं के कर्म फल की वजह से ही हम स्वतंत्र हैं ।”

“भारत की आजादी के बाद से भारत प्रत्येक वर्ष अपना स्वतंत्रता दिवस आज के ही दिन मनाता है भारत के प्रत्येक कोने में आज के दिन आजादी की गूंज सुनाई देती है गली चौबारा में भारत के देश प्रेमी गाने सुनाई देते हैं भारत की आजादी को और भारत के सपनों को साकार केवल भारत के उन वीर जवानों और क्रांतिकारियों के जरिए ही पूरा होते हुए देखा गया है जिनकी यादें आज भी हमारे साथ हैं आज भी हमारे दिलों में राज करती हैं हमारे देश के वीर जवानों को वीरों को वीरांगनाओं को मेरा सत सत बार नमन ।”

भारत माता की जय हमारे शहीद जवानों को सभी को हाथ जोड़कर नमन जय हिंद जय भारत

Independence Day Speech for Student #2

मैं …नाम..कक्षा चौथी का छात्र/छात्रा आप सभी को स्वतंत्रता दिवस की शुभकामनाएं देते हुए अपने कुछ विचार आपके साथ बांटना चाहता/चाहती हूं

जैसा कि हम सभी जानते हैं कि आजादी के जिस सवेरे को आज हम सभी यहां देख रहे हैं वह आजादी हमें रातों-रात नहीं मिली इस आजादी के लिए भारत के कई वीर सपूतों ने अपने प्राणों की आहुति यादी है

आज स्वतंत्रता दिवस के इस शुभ अवसर पर मैं उन सभी वीर सपूतों को श्रद्धांजलि देते हुए नमन करता/करती हूं हम प्रतिवर्ष 15 अगस्त को स्वतंत्रता दिवस के रूप में मानाते हैं क्योंकि 15 अगस्त सन 1947 को भारत को कई वर्षों बाद आजादी की पहली सुबह की प्राप्ति हुई थी

इस दिन पहली बार भारत के प्रधानमंत्री श्री जवाहरलाल नेहरू ने लाल किले पर तिरंगा फहराया था आज भारत को आजाद हुए 75 वर्ष हो चुके हैं और आज भी भारत के प्रधानमंत्री लाल किले पर राष्ट्र ध्वज तिरंगे को पहरा कर पूरे देश को स्वतंत्रता दिवस की शुभकामनाएं दे रहे हैं

आखिर में मैं आप सभी को सुंदरता दिवस की बधाई देता हूं जय हिंद जय भारत

Independence Day Long Speech in Hindi #3

मेरे सभी सम्मानित शिक्षकों माता-पिता और प्यारे दोस्तों को सुप्रभात आज हम भारत के 75 वें स्वतंत्रता दिवस को मनाने के लिए यहां एकत्रित हुए हैं जैसा कि हम सभी जानते हैं कि स्वतंत्रता दिवस हम सभी के लिए एक शुभ अवसर है भारत का स्वतंत्रता दिवस सभी भारतीय नागरिकों के लिए सबसे महत्वपूर्ण दिन है और इसका इतिहास में हमेशा के लिए उल्लेख किया गया है और हमेशा किया जाएगा या वह दिन है जब हम भारत के महान स्वतंत्रता सेनानियों द्वारा कई वर्षों के कठिन संघर्ष के बाद ब्रिटिश शासन से आजादी मिली

हम भारत की आजादी के पहले दिन को याद करने के साथ-साथ 15 अगस्त को हर साल स्वतंत्रता दिवस के रूप में मनाते हैं साथ ही कौन महान नेताओं क्रांतिकारियों वीर वीरांगनाओं के सभी बलिदानों को भी याद करते हैं जिन्होंने भारत को आजादी दिलाने में अपना बलिदान दिया भारत को ब्रिटिश शासन से 1947 में 15 अगस्त के दिन आजादी मिली .

स्वतंत्रता के बाद हमे अपने सभी मूल अधिकार अपने राष्ट्र हमारी मातृभूमि से मिला हम सभी को एक भारतीय होने पर गर्व महसूस करना चाहिए और अपने भाग्य की प्रशंसा करनी चाहिए कि हमने एक स्वतंत्र भारत की भूमि पर जन्म लिया है गुलाम भारत का इतिहास सब कुछ बताता है कि कैसे हमारे पूर्वज और ने कड़ी मेहनत की थी और ब्रिटिशओके सभी क्रूर व्यवहार का सामना किया था ।

हम यहां बैठकर कल्पना नहीं कर सकते कि ब्रिटिश शासन से भारत के लिए आजादी कितनी कठिन थी इसने 1857 से 1947 ईस्वी तक कई स्वतंत्रता सेनानियों के जीवन और कई दशकों के संघर्ष का बलिदान दिया ब्रिटिश सेना में एक भारतीय सैनिक मंगल पांडे ने पहली बार भारत की स्वतंत्रता के लिए अंग्रेजो के खिलाफ आवाज उठाई थी।

बाद में कई महान स्वतंत्रता सेनानियों ने संघर्ष किया और केवल स्वतंत्रता प्राप्त करने के लिए अपना पूरा जीवन लगा दिया हम भगत सिंह खुदीराम बोस और चंद्रशेखर आजाद के बलिदानों को कभी नहीं भूल सकते जिन्होंने अपने देश के लिए लड़ने के लिए कम उम्र में ही अपनी जान गवा दी थी ।

हम नेताजी और गांधीजी के सभी संघर्षों को कैसे अनदेखा कर सकते हैं गांधी जी एक महान भारतीय व्यक्तित्व थे जिन्होंने भारतीयों को अहिंसा का एक बड़ा पाठ पढ़ाया था यह केवल और केवल वही थे जिन्होंने भारत को अहिंसा की मदद से स्वतंत्रता प्राप्त करने का नेतृत्व किया आखिरकार लंबे समय के संघर्ष का परिणाम 15 अगस्त 1947 को सामने आया जब भारत को स्वतंत्रता मिली।

हम इतने भाग्यशाली हैं कि हमारे पूर्वजों ने हमें शांति और खुशी की भूमि दी है जहां हम पूरी रात बिना किसी डर के सो सकते हैं और अपने स्कूल या घर में पूरे दिन का आनंद ले सकते हैं हमारा देश प्रौद्योगिकी शिक्षा खेल वित्त और अन्य विभिन्न क्षेत्र में बहुत तेजी से विकास कर रहा है जो आजादी के पहले लगभग असंभव था ।

आज भारत परमाणु शक्ति संपन्न देशों में से एक है हम अलौकिक राष्ट्रमंडल खेलों और एशियाई खेलों जैसे खेलों में सक्रिय रूप से भाग लेकर आगे बढ़ रहे हैं हम अपनी सरकार चुनने और दुनिया के सबसे बड़े लोकतंत्र का आनंद लेने का पूरा अधिकार है ।

हां हम स्वतंत्र हैं पूरी तरह से स्वतंत्र है हालांकि हमें खुद को अपने देश के प्रति जिम्मेदारी से मुक्त नहीं समझना चाहिए देश के जिम्मेदार नागरिक होने के नाते हमें अपने देश में किसी भी आपातकालीन स्थिति को समझने के लिए हमेशा तैयार रहना चाहिए इसी के साथ मैं अपनी वाणी को विराम देता हूं ।

जय हिंद जय भारत

Independence Day Long Speech in Hindi #4

आदरणीय प्रधानाचार्य जी सभी अध्यापक गण और हमारे प्यारे मित्रों आज हम सब यहां स्वतंत्रता दिवस मनाने के लिए एकत्रित हुए हैं आजादी कहे या स्वतंत्रता ऐसा शब्द है जिसमें पूरा आसमान समाया है आजादी एक स्वाभाविक भाव है यदि बीज को भी धरती में दबा दें तो वह धूप तथा हवा की चाहत में धरती से बाहर आ जाता है क्योंकि स्वतंत्रता ही जीवन है स्वतंत्रता के बिना जीवन का कोई अस्तित्व ही नहीं है ।

व्यक्ति को पराधीनता में चाहे कितना भी सुख प्राप्त हो किंतु उसे वह आनंद नहीं मिलता जो स्वतंत्रता में कष्ट उठाने पर भी मिल जाता है तभी तो कहा गया है कि पराधीन सहने हूं सुख नहीं ।

सदियों से भारत अंग्रेजों की दासता को स्वीकार किए हुए था उनके अत्याचार से जन-जन त्रस्त था खुली पिज्जा में सांस लेने को बेचैन भारत में आजादी का पहला बिगुल 857 में बजा किंतु कुछ कारणों से हम गुलामी के बंधन से मुक्त नहीं हो सके वास्तव में आजादी का संघर्ष उस वक्त अधिक हो गया जब बाल गंगाधर तिलक ने कहा कि स्वतंत्रता हमारा जन्मसिद्ध अधिकार है अनेक क्रांतिकारियों और देशभक्त के प्रयास तथा बलिदान से आजादी की गौरव गाथा लिखी गई है।

जिस देश में चंद्रशेखर भगत सिंह राजगुरु सुभाष चंद्र बोस रामप्रसाद बिस्मिल जैसे क्रांतिकारी तथा गांधी तिलक पटेल नेहरू जैसे देश भक्त मौजूद हो उस देश को गुलाम कौन रख सकता था आखिर देशभक्तों के महत्वपूर्ण योगदान से 15 अगस्त 1947 को अंग्रेजों की दासता एवं अत्याचार से हमें आजादी प्राप्त हुई थी ।

यह आजादी अमूल्य है क्योंकि इस आजादी में हमारे असंख्य भाई बंधुओं का संघर्ष त्याग तथा बलिदान समाहित है यह आजादी हमें उपहार में नहीं मिली है वंदे मातरम और इंकलाब जिंदाबाद की गर्जना करते हुए अनेक वीर देशभक्त फांसी पर झूल गए 13 अप्रैल 1919 को जलियांवाला बाग हत्याकांड और रक्त रंजित भूमि आज भी देशभक्त नर नारियों के बलिदान की गवाही दे रही है।

आजादी अपने साथ कई जिम्मेदारियां भी लाती है हम सभी को इसका ईमानदारी से निर्वहन करना चाहिए किंतु क्या आज हम 75 वर्षों बाद भी आजादी की वास्तविकता को समझ कर उसका सम्मान कर रहे हैं आलम तो यह है जनाब कि यदि स्कूलों तथा सरकारी दफ्तरों में 15 अगस्त ना मनाया जाए और उस दिन छुट्टी ना की जाए तो लोगों को याद भी ना रहेगी स्वतंत्रता दिवस हमारा राष्ट्रीय त्योहार है जो भारतवर्ष के सबसे अहम दिनों में से एक है वैलेंटाइन डे को स्वतंत्रता दिवस से भी बड़े पर्व के रूप में मनाया जा रहा है इसीलिए तो कवि प्रदीत ने कहा है-

ऐ मेरे वतन के लोगों जरा आंख में भर लो पानी जो शहीद हुए हैं उनकी ज़रा याद करो कुर्बानी

आज हम जिस खुली फिजा में सांस ले रहे हैं वह हमारे पूर्वजों के बलिदान और त्याग का परिणाम है हमारी नैतिक जिम्मेदारी बनती है कि मुश्किलों से मिली आजादी की रूह को समझें आजादी के दिन तिरंगे के रंगों का अनोखा अनुभव महसूस करें इस पर्व को ही आजाद भारत के जन्म दिवस के रूप में पूरे दिल से उत्साह के साथ मनाएं ।

स्वतंत्रता का मतलब केवल सामाजिक और आर्थिक स्वतंत्रता ही नहीं अपितु इस स्वतंत्रता दिवस के दिन देश के नागरिक होने के नाते हमें अपने आपसे यह वादा करना चाहिए कि हम अपने देश को विकास की ऊंचाइयों तक ले जाएंगे और भारत को फिर से सोने की चिड़िया बनायेंगे ताकि हमारे देश भक्तों और शहीदों का बलिदान व्यर्थ ना जाए ।

जय हिंद भारत माता की जय वंदे मातरम

Independence Day Short Speech in Hindi #5

स्टेज पर पहुंचते ही कहें… माननीय मुख्य अतिथि, शिक्षक, माता-पिता और मेरे सभी प्रिय मित्र आप सबको मेरा नमस्कार… मैं ….नाम…. कक्षा ….. का छात्र हूं। मुझे यह बताते हुए बहुत खुशी हो रही है कि इस बार भारत अपना 71 वां स्वतन्त्रता दिवस मना रहा है। भारतीय नागरिकों के लिए बहुत ही खास दिन है और आप सभी को स्वतन्त्रता दिवस की हार्दिक शुभकामनाएं।

सदियों की गुलामी के पश्चात 15 अगस्त सन 1947 के दिन हमारा भारत वर्ष आजाद हुआ पहले हम अंग्रेजों के गुलाम थे उनके बढ़ते हुए अत्याचारों से सारे भारतवासी त्रस्त हो गए और तब विद्रोह की ज्वाला भड़की और देश के अनेक वीरों ने प्राणों की बाजी लगाई गोलियां खाई और अंधता आजादी पाकर ही चयन लिया ।

इस दिन हमारा देश आजाद हुआ इसलिए इसे स्वतंत्रता दिवस कहते हैं अंग्रेजों के अत्याचारों और अमानवीय व्यवहार से त्रस्त भारतीय जनता एकजुट हो कर इससे छुटकारा पाने के लिए कृत संकल्प हो गई सुभाष चंद्र बोस भगत सिंह चंद्रशेखर आजाद मंगल पांडे राम प्रसाद बिस्मिल इत्यादि ने क्रांति की आग लगाई ।

और अपने प्राणों की आहुति यादी तत्पश्चात सरदार वल्लभभाई पटेल गांधीजी नेहरू जी ने सत्य अहिंसा और बिना हथियारों की लड़ाइयां लड़ी सत्याग्रह आंदोलन किए लाठियां खाई कई बार जेल गए और अंग्रेजों की हमारा देश छोड़कर जाने पर मजबूर कर दिया इस तरह 15 अगस्त 1947 का दिन हमारे लिए दिन बन गया और हमारा देश स्वतंत्र हो गया।

भारतवर्ष के लोग आज भी अपने स्वतंत्रता दिवस को बहुत ही उत्साह से मनाते हैं प्रधानमंत्री लाल किले पर झंडा फहरा कर राष्ट्र को संबोधित करते हैं वे राष्ट्र को एकजुट रहने तथा अपनी स्वतंत्रता को बरकरार रखने की प्रेरणा देते हैं देश के विभिन्न भागों में इस दिन चहल-पहल होती है लोग तिरंगा झंडा को फहरा कर एक दूसरे को स्वतंत्रता दिवस की बधाई देते हैं

या दिवस हमें अपने महान स्वतंत्रता सेनानियों तथा शहीदों का स्मरण कराती है भारतवर्ष भारतवासी उनके बताए मार्ग पर चलने का संकल्प प्रकट करते हैं स्वतंत्रता दिवस भारत के लोगों को आपसी मतभेद भुलाकर देश के नवनिर्माण की प्रेरणा देता है ।

अंत में बस इतना बोलना चाहूंगा कि मुझे भारतीय नागरिक होने पर गर्व महसूस हो रहा है तो चलिए आज हम सभी मिलकर इस स्वतंत्रता दिवस पर शपथ लेते हैं कि अपने देश को भ्रष्टाचार से मुक्त करने में मदद करेंगे और सभी के साथ प्रेम भाव से रहेंगे यह हमारी जिम्मेदारी है कि हम देश को आगे बढ़ाएं और भारत को दुनिया का सर्वश्रेष्ठ देश बनाएं

जय हिंद जय भारत वंदे मातरम

अंतिम शब्द

मेरे प्यारे मित्रों आपको यहां पर दिए गए Independence Day के उपलक्ष में भाषण कैसे लगे हमें कमेंट करके जरूर बताएं यदि आपको कोई दिक्कत हो रही है या कुछ समस्या है हमारे कांटेक्ट से तो हमसे सवाल जवाब करने के लिए कमेंट के माध्यम से सवाल जरूर करें।

यदि आपको यहां पर दिए गए Independence day speech in hindi 2021 आपको अच्छे लगे हो तो इसे अपने मित्रों के साथ घर परिवार वालों के साथ फेसबुक अथवा व्हाट्सएप पर शेयर जरूर करें ।

खास आपके लिए

independence day speech in hindi
2 Shares

4 Comments

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

2 Shares
Copy link