Cyber Monday Sale :: Get $100 now and host your website on superfast vps server of Digital Ocean get $100 now

Additional menu

Gateway Kya Hai in Hindi?

gateway kya hai
Gateway Kya Hai in Hindi? 1

गेटवे एक तरह का नेटवर्किंग गेट होता है जो के किन्ही दो नेटवर्क के बीच में काम करता है जो एक तरह का हार्डवेयर डिवाइस होता है जो कि लोकल नेटवर्क से जुड़े कंप्यूटर्स को रिमोट नेटवर्क से जुड़े कंप्यूटर्स से इंटरनेट के माध्यम से कनेक्ट करता है ।

गेटवे एक तरह का Node होता है जो कि नेटवर्क को प्रोटेक्ट करता है इसे इस तरह से समझा जा सकता है कि यह नेटवर्क के सबसे किनारे पर होता है और जितने भी इनकमिंग ट्रैफिक या फिर आउटगोइंग ट्रैफिक्स है उनको उस नेटवर्क डिवाइस से कनेक्ट होने के लिए गेटवे के थ्रू गुजर जाना होता है ।

या इनकमिंग और आउटगोइंग ट्रैफिक को या कहें सोर्स टु डेस्टिनेशन और डेस्टिनेशन टू सोर्स टेलीकम्युनिकेशन नेटवर्क को इनेबल करता है .

अब अगर आपको और ज्यादा आसान भाषा में समझाएं तो गेटवे एंट्री और एग्जिट पॉइंट की तरह काम करता है यानी कि जितनी भी ट्रैफिक उस नेटवर्क में आ रही हैं वह गेटवे के थ्रू ही आएंगे और सारी आउटगोइंग ट्रैफिक गेटवे के थ्रू ही डेस्टिनेशन पर जाएंगे

Ex- राउटर फायरवॉल सर्वर इत्यादि चीजें गेटवे का ही काम करती हैं

How Gateway Works #

जैसा कि गेटवे क्या है मैंने आपको पहले ही बता दिया लेकिन अगर फिर भी अभी भी आपको समझ में नहीं आया तो आइए इसको एक पिक्चर की सहायता से अच्छे से समझने का प्रयास करते हैं

gateway kam kaise karta hai
Gateway Kya Hai in Hindi? 2

दोस्तों लेफ्ट साइड में जो स्विच से कनेक्टेड कंप्यूटर से वह हमारे लोकल कंप्यूटर हैं जोकि स्विच के थ्रू राउटर यानी कि गेटवे से कनेक्टेड है और राउटर के दाएं तरफ क्लाउड यानी कि किसी अन्य रिमोट लोकेशन पर दूसरे कंप्यूटर से अब आइए आपको बताते हैं कि Gateway काम कैसे करता है

अब आपको देखकर समझ में आ रहा होगा कि यदि हमें रिमोट कंप्यूटर से जुड़ना हो या किसी अन्य नेटवर्क से जुड़ ना हो तब हमें राउटर यानी कि गेटवे के थ्रू ही जोड़ना पड़ता है

और अगर हमें लोकल इंटरकनेक्टेड नेटवर्क में ही जोड़ना है जैसे आप बाई तरफ Switch में देख रहे होंगे तब हमें एक Computer से दूसरे Computer या लैपटाप में डाटा ट्रांसमिशन के लिए किसी भी राउटर यानी कि गेटवे की आवश्यकता नहीं होगी

Gateway as for Security #

firewall gateway हिन्दी
Gateway Kya Hai in Hindi? 3

दोस्तों गेट में एक सिक्योरिटी डिवाइस की तरह भी काम करता है जैसे कि हम फायर वालों की मदद से इनकमिंग और आउटगोइंग ट्रैफिक को एनालाइज कर सकते हैं और हम उन्हें ट्रैफिक को अलाउड कर सकते हैं जिसे हम चाहे , Firewall का यही काम होता है ।

दोस्तों फायर बॉल एक कंप्यूटर सॉफ्टवेयर अथवा हार्डवेयर दोनों हो सकते हैं उदाहरण के तौर पर एमएस फायरवॉल जो आपको अपने विंडोज ऑपरेटिंग सिस्टम में देखने को मिलेगा और हार्डवेयर की बात करें तो राउटर सरवर फायरवॉल डिवाइस इत्यादि।

दोस्तों विंडोज फायरवॉल सॉफ्टवेयर की बात करें तो यह आपके कंप्यूटर में अनऑथराइज्ड एक्सेस यानी कि यदि कोई हैकर, आप किसी नेटवर्क से कनेक्टेड है और वह आपको उस नेटवर्क के जरिए आपके कंप्यूटर का एक्सेस पाना चाहता है तो विंडोज फायरवॉल उसे डिटेक्ट कर दे लेता है और उसे नकार कर देता है ।

ठीक ऐसे ही हार्डवेयर डिवाइसेज भी काम करती हैं हम हार्डवेयर डिवाइस और सॉफ्टवेयर फायर बॉल दोनों में ही यह चीजें बता सकते हैं कि किस सोर्स को हमें नेटवर्क से कनेक्ट होने के लिए अनुमति देना है और किस सोर्स को रिजेक्ट करना है इस तरह से हम गेटवे को सिक्योरिटी सर्विस की तरह भी इस्तेमाल कर सकते हैं।

Types of Gateway #

दोस्तों गेटवे के टाइप की बात करें तो डेटाफ्लो के हिसाब से गेट में दो प्रकार के होते हैं

1. Uni-directional Gateway– इस तरह के गेटवे में डाटा का फ्लोर सिंगल डायरेक्शन में होता है

2. Bi-directional Gateway– बाई डायरेक्शनल गेटवे में डाटा का फ्लोर दोनों तरफ से होता है उदाहरण के तौर पर इसका उपयोग हम डाटा सिंक्रोनाइजेशन के रूप में कर सकते हैं दो या दो से अधिक कंप्यूटर्स के बीच में

वहीं इनके फंक्शनिंग की बात करें तो फंक्शन के हिसाब से गेटवे कई प्रकार के होते हैं जिनमें से कुछ नीचे दिए गए हैं

  • Network Gateway
  • IOT Gateway
  • Cloud Storage Gateway
  • Internet to Voip Gateway
  • Internet Trunk Gateway
  • Payment Gateway [3D Gateway, 2D Gateway ]

Router Vs Gateway #

गेटवे और राउटर दोनों ही एक समान होते हैं क्योंकि यह दोनों ही लोकल नेटवर्क से जुड़े कंप्यूटर्स को रिमोट नेटवर्क से जुड़े कंप्यूटर से यानी कि इंटरनेट के थ्रू डाटा ट्रांसमिशन करने में मदद करते हैं लेकिन गेटवे जहां दो डिफरेंट प्रोटोकॉल यूज करने वाले नेटवर्क को जोड़ता है वही राउटर एक ही तरह का प्रोटोकॉल यूज करने वाले नेटवर्क पर ही काम कर पाता है ।

इस तरह से यह कहना बिल्कुल भी गलत होगा कि गेटवे ही राउटर होता है यह सत्य है कि राउटर एक तरह का गेटवे है गेटवे की तरह काम करता है किंतु गेटवे ही हमेशा राउटर नहीं है । सामान्य रूप से राउटर एक बहुत ही साधारण गेटवे हैं जिसका उपयोग हम Internet से जुड़ने में करते हैं।

Final Words:

दोस्तों मुझे आशा है कि अब आपको Gateway kya hai अच्छे से Hindi समझ में आ गया होगा फिर भी यदि आपको कहीं दिक्कत हो रही हो या कुछ चीजें ऐसी हैं जो समझ में ना आई हो या इस आर्टिकल से कोई प्रॉब्लम है तो आप हमें कमेंट करके जरूर बताएं

gateway kya hai
0 Shares
0 Shares
Copy link